माँ के लिए साड़ी -वो भी प्योर सिल्क

अब मम्मा और निशा के लिए शनिबाज़ार से थोड़े ही कपड़े लुंगी | एंड डॉन वरि इस जादुई चिराग पर लगी खरोचों को बचत की रफू से ठीक कर दूंगी |

Read More

मम्मी जाह्नवी को ब्रेड से कफ हो जाता है !

आज फिर तुमने ब्रेड सैंडविच खाया है ?? मम्मी मैंने मना किया था ना, इसको ब्रेड मत खिलाना, खांसी है इसे | नेहा बैड पर जोर से ऑफिस का बैग पटकते बोली | अरे बेटा, बहुत जिद्द कर रही थी, ब्रेड सैंडविच ही खाउंगी | इसलिए दे दिया मैंने | सासु माँ ने अपनी अपनी […]

Read More

मम्मा मैं भी होशियार हो जाऊँगा !

क्या मन ही मन कहानियाँ गढ़ रहे हो | कार्टून की लाईने तो दिल से याद रहती हैं तुम्हे बस पढ़ाई की बात ना करो | रिया बस एक ही सांस में बोले जा रही थी क्योंकि 1 घंटे के बाद भी राहुल ने अपना मैथ होमवर्क पूरा नहीं किया था |

Read More

आजकल की हिप-हॉप जनरेशन

पहले से बैठा भारतीय यात्री और वो भी महिला यात्री खाली बैठा क्या करें, हर चढ़ने वाले की वेशभूषा, बातचीत के तरीके और शक्ल देख उनके प्रदेश-परिवेश भांपने लगता हैं ! अजीब शौक हैं ना लेकिन सच मानिये सव्भाविक हैं |

Read More

कोई अपना ज़िन्दगी की लड़ाई हार गया

बहुत दर्द भरा होता हैं वो समय जब आपको किसी अपने के साथ बैठ कर मौत का इंतज़ार करना होता हैं | ऐसा लगता हैं जैसे हर एक बीतता पल उस सैंड टाइमर की रेत जैसा हैं जिसे आप चाह कर भी पकड़ नहीं सकते |

Read More

दीदी आज कही जाना है

विशाल को ऑफिस और काव्यांश को स्कूल भेजने के बाद, अपना सारा काम निपटा कर, जैसे ही निशा चाय का कप लेकर बैठी | उसकी कामवाली ने मिस्ड कॉल मारी |

Read More

मेरी माँ को आज़ादी मिल गयी

एक्चुअली रेनू का हाथ ज़रा अंग्रेजी में तंग था | कई बार इतनी फर्राटेदार इंग्लिश के जमाने में वो अपने आप को बहुत छोटा महसूस करती थी | यहाँ तक कि उसका 8 साल का बेटा विशाल तक उसको कह देता

Read More