मैं शब्द रहूं और तुम रहो अर्थ

हम एक दूसरे का कप तो भरे
लेकिन जरूरी नहीं एक कप से पिए,
तू मेरी और मैं तेरी भूख का ध्यान रखूँ
चल इसी सोच से ज़िन्दगी जिए |

Read More

माँ तुम बहुत याद आती हो !

क्यों शादी के बाद माँ की इतनी याद आती है, क्यों इस नए जन्म में माँ की कमी सबसे ज्यादा सताती है | बस 5 मिनट, खाना ठंडा हो रहा है, अब बोलूंगी ही नहीं, क्यों ऐसी बातें बोलने और सुनने वाला अब कोई नहीं | क्यों मैं लगातार एक साथ पूरे 9 घंटे मुद्दतों […]

Read More

सबक जो बच्चे महाभारत से सीख सकते है

क्या आपको याद है वो रविवार की हर सुबह जो हरीश भिमानी की दिल को छू लेने वाली दमदार आवाज़ “मैं समय हूँ” से शुरू होती थी ?

Read More